दो लेंसों की संयुक्त क्षमता एवं फोकस दूरी को समझाइये

दो लेंसों की संयुक्त क्षमता एवं फोकस दूरी को समझाइये।

माना दो लेंसों की फोकस दूरी क्रमशः f1 तथा f2 है। जब इन लेंसों को आपस में जोड़ कर रखा जाता है तब यह संयोजन एक लेंस के रूप में कार्य करने लगता है जिसकी फोकस दूरी F है। इस फोकस दूरी (F) को तुल्य फोकस दूरी कहते हैं, जो निम्नलिखित है

\frac { 1 }{ F } =\frac { 1 }{ { f }_{ 1 } } +\frac { 1 }{ { f }_{ 2 } }

चूँकि

और पढ़ें :   श्यानता (Viscosity) क्या है | What is Viscosity ?
\frac { 1 }{ f }=P

जबकि P लेंस की क्षमता है। अत: दो लेंसों की संयोजन क्षमता
अग्रवत् है
P = P1 + P2
जबकि

P=\frac { 1 }{ F }
RBSE Solutions for Class 10 Science Chapter 9 प्रकाश image - 56.

यदि P1, P2, P3, P4……. क्षमताओं के लेंसों को एक-दूसरे से मिलाकर रख दिया जाये तब संयुक्त लेंस की क्षमता निम्नवत् होगी
P = P1 + P2 + P3 + P4 +….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *