वरुण (Neptune)

इसकी खोज 1846 में जर्मन खगोलज्ञ जहॉन गाले ने की थी। नई खगोलीय व्यवस्था के अनुसार यह सूर्य से सबसे दूर स्थित है। इसके चारों ओर अति शीतल मीथेन के बादल पाये जाते हैं। मीथेन […]

पीयूष ग्रंथि (Pituitary Gland)

पीयूष ग्रंथि यह कपाल की स्फीनाइड हड्डी के गढ्ढे में स्थित होती है । यह लगभग 0.6 ग्राम की मटर के दाने की आकृति की ग्रंथि होती है । इसे मास्टर ग्रंथि भी कहते हैं […]

अन्तःस्रावी ग्रंथियाँ (Endocrine Glands)

मानव शरीर में दो प्रकार की ग्रंथियाँ पाई जाती है । बहिस्रावी ग्रंथियाँ एवं अन्तःस्रावी ग्रंथियाँ । बहिस्रावी ग्रंथियाँ शरीर की ऐसी ग्रंथियाँ जिनके द्वारा स्राव को विभिन्न अंगों तक पहुँचाने के लिए वाहिनियाँ अथवा […]

सौरमंडल (Solar System)

सूर्य के चारों ओर चक्कर लगाने वाले विभिन्न ग्रहों, क्षुद्र-ग्रहों, धूमकेतुओं, उल्काओं तथा अन्य आकाशीय पिंडों के समूह को सौरमंडल कहते हैं । सौरमंडल में सूर्य प्रमुख है क्योंकि सौरमंडल के कुल द्रव्यमान का 99.99% […]

नैनो तकनीकी (Nanotechnology)

क्र.सं. मात्रक मीटर का हिस्सा 1. डेसी (deci) 0.1 2. सेंटी (centi) 0.01 3. मिली (mili) 0.001 4. माइक्रो (micro) 0.000001 5. नैनो (nano) 0.000000001 6. ऐंग्स्ट्रॉम (angstrom) 0.0000000001 7. पिको (pico) 0.000000000001 8. फैम्टो […]

उत्सर्जन तंत्र

शरीर में उपापचयी क्रियाओं द्वारा अनेक अपशिष्ट पदार्थों जैसे अमोनिया, यूरिक अम्ल, यूरिया आदि को शरीर से बाहर निकालना उत्सर्जन कहलाता है। इस कार्य के लिए एक विशेष तंत्र पाया जाता है जिसे पाचन तंत्र […]