नाइलॉन-66 तथा टेरीलीन किस प्रकार बनता है?

नाइलॉन-66 तथा टेरीलीन किस प्रकार बनता है?
उत्तर-
(i) नाइलॉन-66-यह एडिपिक अम्ल (6 कार्बन) तथा हेक्सा मेथिलीन डाईएमीन (6 कार्बन) के संघनन बहुलीकरण से बनता है अतः इसे नाइलॉन-66 कहते हैं।

(ii) टेरीलीन-यह एथिलीन ग्लाइकॉल तथा टेरेपथैलिक अम्ल के संघनन बहुलीकरण से बनता है। इसे डेक्रॉन भी कहते हैं।

और पढ़ें :   किसी मनुष्य के रुधिर का जीन प्रारूप ii है तो उसका रुधिर वर्ग लिखिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *