प्रतिरक्षी में हिन्ज का क्या कार्य

प्रतिरक्षी में हिन्ज का क्या कार्य है?

अधिकांश प्रतिरक्षियों के Y स्वरूप में दोनों भुजाओं के उद्गम स्थल लचीले होते हैं जिन्हें कब्जे अथवा हिन्ज कहते हैं। लचीले होने के कारण हिन्ज प्रतिरक्षी के अस्थिर भाग को प्रतिजन के छोटे-बड़े अणु समाहित कर अभिक्रिया करने में सहायता करता है।

और पढ़ें :   अग्निशामक यंत्र बनाने में निम्न पदार्थ का प्रयोग किया जाता है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *