मेण्डल के आनुवंशिकता नियमों का महत्त्व

मेण्डल के आनुवंशिकता नियमों का महत्त्व लिखिये।

मेण्डल के नियमों का महत्त्व निम्नलिखित है

मेण्डल के नियमों की सहायता से उन्नत व संकर प्रजातियों को उत्पन्न किया जाता है।
इन प्रजातियों में अधिक उत्पादन, अधिक अनुकूलनती, रोधक क्षमता आदि गुण पाये जाते हैं।
प्रजनन विज्ञान में मेण्डल के नियमों का बड़ा योगदान है।
असाध्य रोगों की पहचान करने व उपचार में सहायक है।
मेण्डल के कार्यों से जैव तकनीक और जैव अभियांत्रिकी को भी बल मिला।
सुजननिकी में मानव एवं अन्य जीवों में जीवन स्तर गुणवत्ता व श्रेष्ठ जर्मप्लाज्म संरक्षण को बढ़ावा देने में मेण्डल के नियम उपयोगी हैं।
सजीवों में प्रभाविता के लक्षण का पाया जाना अत्यन्त महत्त्वपूर्ण है। क्योंकि अनेक हानिकारक एवं घातक जीन अप्रभावी होने के कारण प्रभावी जीन की उपस्थिति में अपने आपको अभिव्यक्त नहीं कर पाते हैं।

और पढ़ें :   रक्त के स्रोत के आधार पर रक्ताधान कितने प्रकार का होता है? नाम लिखिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *