मेण्डल ने अपने प्रयोग के लिए मटर के पौधे को ही क्यों चुना?

मेण्डल ने अपने प्रयोग के लिए मटर के पौधे को ही क्यों चुना?

मेण्डल ने अपने प्रयोग के लिए मटर के पौधे का चयन निम्न कारणों से किया–

एकवर्षीय पादप होने के कारण कम समय में अनेक पीढ़ियों का अध्ययन किया जा सकता है।
द्विलिंगी पुष्प (Bisexual flowers) होने के कारण स्वपरागण (Self pollination) के द्वारा समयुग्मजी (Homozygous) पादप अथवा शुद्ध वंशक्रम (Pure line) सरलता से प्राप्त किया जा सकता है।
विपुंसन (Emasculation) विधि द्वारा कृत्रिम परपरागण आसानी से किया जा सकता है।
मटर के पौधे में विभिन्न लक्षणों के वैकल्पिक लक्षण मिलते हैं जैसे लम्बे व बौने, गोल व झुरीदार बीज आदि।

और पढ़ें :   कब्जे या हिन्ज (Hinge) किसे कहते हैं ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *