हाइड्रोकार्बन कैसे बनते हैं?

कार्बन परमाणु की विद्युत ऋणता हाइड्रोजन परमाणु के लगभग समान होने के कारण यह हाइड्रोजन परमाणु के साथ इलेक्ट्रॉन की समान साझेदारी करके सहसंयोजक बंध का निर्माण कर हाइड्रोकार्बन बनाता है। इस प्रक्रिया में कार्बन का अष्टक एवं हाइड्रोजन का हीलियम गैस जैसा द्विक विन्यास प्राप्त हो जाता है।

और पढ़ें :   संयोजी ऊतक (Connective Tissue)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *