कार्बन एवं इसके यौगिक

कार्बन एवं इसके यौगिक

कार्बन परमाणु की विशेषताएँ

  • आवर्त सारणी में परमाणु क्रमांक 6 पर स्थित परमाणु को कार्बन परमाणु का नाम दिया गया है इसे C-प्रतीक से दर्शाते हैं
  • कार्बन परमाणु का इलेक्ट्रोनिक विन्यास होता है
  • कार्बन की संयोजकता 4 होती है एवं यह अपनी चरों संयोजकताओं को संतुष्ट करने के लिए एकल बंध, द्विबंध एवं त्रिबंध का निर्माण करता है
  • कार्बन की ज्यामिति समचतुष्फलकीय होती है जिसमें चरों संयोजकताएं समचतुष्फलक के चारों कोनों की तरफ निर्देशित रहती है तथा कार्बन परमाणु समचतुष्फलक के केंद्र में स्थित होता है
  • प्रत्येक संयोजकता के मध्य कोण का मान 109 डिग्री 28 मिनट होता है
  • कार्बन परमाणु में श्रंखलन का गुण पाया जाता है अर्थात कार्बन परमाणु आपस में जुड़कर एक लम्बी श्रृंखला का निर्माण कर सकते हैं
  • कार्बन परमाणु अन्य कार्बन परमाणुओं से एकल बंध, द्विबंध एवं त्रिबंध के माध्यम से जुड़ सकते हैं
कार्बन की संयोजकता 4 होती है एवं यह अपनी चरों संयोजकताओं को संतुष्ट करने के लिए एकल बंध, द्विबंध एवं त्रिबंध का निर्माण करता है

हाईड्रोकार्बन एवं इनका वर्गीकरण

हाइड्रोकर्बनों को दो श्रेणियों में बांटा गया है – अचक्रिय हाईड्रोकार्बन एवं चक्रीय हाइड्रोकार्बन

कार्बन एवं हाइड्रोजन से निर्मित यौगिक हाईड्रोकार्बन कहलाते हैं

कार्बनिक यौगिकों के नामकरण की IUPAC नामकरण

कार्बन के अपररूप

हीरा

ग्रेफाइट

फुलरीन

दैनिक जीवन में उपयोगी कार्बनिक यौगिक

क्लोरो-फ्लोरो कार्बन या फ्रेयोन

सी.एन.जी.

बहुलक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *