पॉली ऐमाइड बहुलक

पॉली ऐमाइड बहुलक 

B . पॉली ऐमाइड बहुलक (Poly amide polymer) :

ये निम्न है

1. नाइलोन 6,6 :

यह हेक्सामेथिलीन डाई ऐमिन व एडिपिक अम्ल का सहबहुलक है।

नोट : नायलॉन 6,6 के दोनों एकलको में कार्बन की संख्या 6,6 होती है इसलिए इसका नाम नाइलॉन 6,6 दिया गया।

उपयोग –

  • शीटों , ब्रशों के शुको में
  • वस्त्र निर्माण में

2. नायलॉन 6 :

जब केप्रोलैक्टम (6 कार्बन युक्त) को जल के साथ गर्म करते है तो नाइलॉन 6 बनता है।

उपयोग –

  • टायर की डोरियाँ बनाने में
  • वस्त्र व रस्सी बनाने में

C. मेलैमिन फॉर्मेल्डिहाइड की क्रिया से बनाया जाता है।

उपयोग –
  • क्राकरी बनाने में
  • कप-प्लेट बनाने में

D. फिनॉल फार्मेल्डिहाइड बहुलक या बैकेलाइट –

जब फिनॉल की क्रिया फॉर्मेल्डीहाइड के साथ अम्लीय या क्षारीय माध्यम में की जाती है तो (ऑर्थो व पेरा ) O व p-हाइड्रोक्सी मैथिल फिनॉल बनते है इन्हे फिनॉल के साथ गर्म करने पर अनेक -CH2 समूह युक्त तिर्यक बंध बनते है जिससे यह अधिक कठोर होता है इसे बैकेलाइट कहते है।
नोट : अम्लीय माध्यम में O- (ऑर्थो) , हाइड्रोक्सिमैथिल फिनोल के अनेक अणु मिलकर रेखीय बहुलक का निर्माण करते है जिसे नोवोलेक कहते है , इसे HCHO के साथ गर्म करने पर बैकेलाइट बनता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is Protected.