ई. एस. आर. ज्ञात करने की वेस्टरग्रेन विधि का संक्षिप्त वर्णन कीजिए।

ई. एस. आर. ज्ञात करने की वेस्टरग्रेन विधि का संक्षिप्त वर्णन कीजिए।उत्तर:ESR ज्ञात करने की वेस्टरग्रेन नलिका को अनस्कन्दित रक्त के नमूने से शून्य के चिह्न तक भरते हैं तथा उसे ऊर्ध्वाधर (Vertical) रूप में […]

आर. आई. ए. में सूचक का कार्य कौन करता है?

आर. आई. ए. में सूचक का कार्य कौन करता है?उत्तर:इस विधि में रेडियो आइसोटोप पदार्थ का उपयोग सूचक के रूप में कार्य करता है।

सोनोग्राफी में किसके क्रिस्टल प्रयुक्त होते हैं?

सोनोग्राफी में किसके क्रिस्टल प्रयुक्त होते हैं?उत्तर:इसमें ट्रान्सड्यूसर नामक एक युक्ति में उपस्थित लैड जिर्कोनेट (Lead Zirconate) नामक पदार्थ के क्रिस्टल रखे जाते हैं।

एम. आर. आई. में X-किरणों के स्थान पर किसका प्रयोग किया जाता है ?

एम. आर. आई. में X-किरणों के स्थान पर किसका प्रयोग किया जाता है ?उत्तर:MRI तकनीक नाभिकीय मैग्नेटिक रेजोनेन्स के सिद्धान्त पर कार्य करती है। इसमें प्रबल चुम्बकीय क्षेत्र तथा रेडियो तरंगों के वातावरण में उत्पन्न […]

ई. ई. जी. शरीर के किस अंग के निदान से सम्बन्धित है?

ई. ई. जी. शरीर के किस अंग के निदान से सम्बन्धित है?उत्तर:EEG द्वारा मस्तिष्क के विभिन्न भागों की विद्युतीय क्रिया का मापन कर रिकॉर्ड किया जाता है जो मस्तिष्क सम्बन्धी असामान्यताओं के निदान में सहायक […]

हृदय स्पंदन को रिकॉर्ड करने वाले यंत्र का नाम लिखिए।

हृदय स्पंदन को रिकॉर्ड करने वाले यंत्र का नाम लिखिए।उत्तर:इलेक्ट्रोकॉर्डियोग्राफी (ECG) हृदय स्पंदन रिकॉर्ड करने वाला यंत्र है।

ई.एस.आर. का मान किन रोगों में बढ़ जाता है?

ई.एस.आर. का मान किन रोगों में बढ़ जाता है?उत्तर:रक्त के रक्ताणुओं के अवसादन (Settle) होने की दर को रक्ताणु अवसादन दर (ESR) कहते हैं। तपेदिक, प्रदाह रोग, यूमेटॉइड, आथ्राईटिस, मल्टीपल माइलोमा, लसीकाभ तथा अर्बुद में […]

कुल श्वेताणु गणना (T. L. C.) किसके द्वारा की जाती है ?

कुल श्वेताणु गणना (T. L. C.) किसके द्वारा की जाती है ?उत्तर:श्वेताणुओं की गणना के लिए न्यूबॉर के हीमोसाइटोमीटर का प्रयोग किया जाता है।